Accha sanitizer kaise chunein?

अच्छा सैनिटाइजर कैसे चुनें?

accha hand sanitizer kaise chunein? hindisansaar.com


कोरोनावायरस की लड़ाई में स्वच्छता एक सबसे बड़ा हथियार है। अपने हाथ को समय-समय पर हैंड सेनीटाइजर से साफ करते रहना चाहिए घर से बाहर निकलते वक्त किसी भी बाहर चीजों को छूने के बाद अपने हाथ को सेंटा जड़ से साफ करें जिससे आपके हाथ पर लगे हुए वायरस कीटाणु और अन्य सूक्ष्म जीव मर जाते हैं। कोरोनावायरस के दौरान देखा गया है कि हैंड सेनीटाइजर और मास्क जैसे सामग्री की मांग बढ़ी है।

और इसका उत्पादन भी रफ्तार पकड़ चुका है और हैंड सेनीटाइजर, मास्क सुरक्षा उपकरणों इत्यादि के उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है।
सब में से सबसे जरूरी है सैनिटाइजर अथवा अपने हाथों को साफ रखने की जरूरत। इसी बीच में देखा गया है कि बहुत सी फ्रॉड कंपनियां असंगत अनुपात में अल्कोहल मिलाकर सैनिटाइजर के रूप में बेच रहे हैं, सैनिटाइजर अगर हाथों पर जाने के बाद अपने आंखों या उसी हाथ से भोजन करता है तो उसे पेट दर्द आंखों में जलन उल्टी और अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।


इसलिए यह बहुत जरूरी है कि बाजार में मिलने वाले सैनिटाइजर को खरीदने से पहले उसके बारे में अच्छी जानकारी हासिल कर ले।

hand sanitizer kaise chunein?

सैनिटाइजर खरीदने से पहले नीचे दिए गए बातों को ध्यान रखकर ही सैनिटाइजर खरीदें-

hindisansaar.com



सैनिटाइजर खरीदने से पहले यह ध्यान रखें कि उस में अल्कोहल की मात्रा कितनी है। उस में अल्कोहल की मात्रा 100% है तो वह बिल्कुल भी कारगर नहीं है और वह किसी भी प्रकार के विषाणु या जीवाणु को नहीं मार सकता है।

बाजार में उपलब्ध है उसे सैनिटाइजर में इथाइल अल्कोहल या आइसोप्रोपिल अल्कोहल मिला हुआ रहता है। इस प्रकार के अल्कोहल को कृत्रिम तरीके से बनाया जाता है और इसको हाथों पर लगाने से एक गंदी बदबू आने लगती है।


हैंड सेनीटाइजर में अगर इथेनॉल है तो वह एक अच्छा सैनिटाइजर है।

सैनिटाइजर में एलोवेरा और विटामिन ई मिला हुआ है तो उसे जरूर खरीदें।

बहुत से स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार अगर सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा 60 से 90% है तो वह कारगर साबित हो सकता है।

हैंड सेनीटाइजर का इस्तेमाल कैसे करें?

अपने हाथ को अच्छी तरह धोएं


सैनिटाइजर का इस्तेमाल 5 साल से कम उम्र के बच्चों पर नहीं करना चाहिए। सैनिटाइजर इस्तेमाल करने से पहले यह जान लेना चाहिए कि सैनिटाइजर सभी प्रकार के कीटाणु या विषाणु को नहीं मार सकता है, यह कोरोनावायरस और अन्य सभी प्रकार के वातावरण या किसी सामग्री के ऊपर रहने वाले विषाणु या कीटाणु जिन पर प्रोटीन की परत होती है, को मारने में कारगर साबित होता है।


किसी भी बाहरी या अनछुई वस्तु को अनायास ही ना छुए। किसी भारी वस्तु को छूने से पहले ब्लॉग्स जरूर पहने। अगर आपके पास ग्लव्स उपलब्ध नहीं है तो उस सामान को छूने के बाद साबुन और पानी से हाथ को जरूर धोएं या सैनिटाइजर को अपने हाथ पर थोड़ी मात्रा में लें और उसे अच्छी तरह से अपने हाथों नाखून के बीच उंगलियों के बीच तब तक र करते रहे जब तक वह वाष्पित होकर सुख न जाए।

बाज़ार में बहुत से स्प्रे वाले सैनिटाइजर भी मौजूद है, इस प्रकार के सैनिटाइजर का उपयोग चेहरे या आंखों के पास ना करें।

सैनिटाइजर लगाने के बाद अपने हाथ को टॉवल या टिशू पेपर से जरूर पोंछे।

Leave a Comment